‘अनलॉक’ फिल्म का रिव्यू, पूरी स्टार कास्ट, फिल्म में क्या अच्छा है और क्या बुरा, फिल्म की कहानी हिंदी में

unlock-film-ka-review-kirdaar-film-ki-kahani
Spread the love

अनलॉक मूवी कैसी है
अनलॉक मूवी को 26 Jun, 2020 में जी5 के प्लेटफार्म पर रिलीज़ किया गया था और यह फिल्म कुल 58 मिनट की है यानि की आप इस फिल्म को जल्दी देखकर ख़त्म कर सकते हो। इस फिल्म को डायरेक्ट किया देबातमा मंडल ने और डायरेक्टर ने इस फिल्म को हॉरर और डार्क वेब के जॉनर में रखा है मगर इस फिल्म को देखकर आप यह कह सकते हैं की डायरेक्टर इन दोनों जॉनर में खुद कंफ्यूज हो गए की इस फिल्म में किस जॉनर का भाग कितना ज्यादा होना चाहिए या कम होना चाहिए। शायद इसलिए वह फिल्म में कुछ ऐसे सींन को डाल देते हैं जोकि न हॉरर जॉनर में आता है और डार्क वेब ऐसा कुछ कर सकता है।

कई दृश्यों पे दर्शको को तो बिलकुल भी यकीन नहीं होता है की यह कैसे मुमकिम है जिसे डार्क वेब के रूप में दिखाने की कोशिश की गयी है क्यूंकि अभी भी भारत में बहुत सारी चीज़ें लाइट, कार आदि फुल्ली आटोमेटिक नहीं हुई है जिसे की डार्क वेब से कंट्रोल किया जा सके इसलिए यह फिल्म केवल एक मजाक बन कर रह जाती है।

इस आर्टिकल को आप इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

डायरेक्टर ने कोशिश की है वह डार्क वेब के प्रयोग से होने वाले नुकसान से लोगो को आगाह करना लेकिन इसमें यह फिल्म पूरी तरह से फ्लॉप हो जाती है। आप किसी बड़े सब्जेक्ट को जिसके ऊपर एक सीरीज बनाई जा सकती है और वह भी कितने ही सीज़न्स के सांथ उसे सिर्फ एक घंटे में ख़त्म करके अपनी बात और मैसेज को नहीं दे सकते, यही कारण है की इस फिल्म के स्टोरी लाइन काफी ज्यादा कमजोर लगती है। ऐसा लगता है की राइटर ने स्टोरी को बिल्ड अप देने की बिलकुल भी कोशिश नहीं है इसलिए जो भी इस एप्प को प्रयोग कर रहा है वह क्यों कर रहा है उसका पता नहीं चलता है। 

हमारी राय में अगर आपके पास कुछ भी नहीं है देखने के लिए तब ही आप इस फिल्म को देखें वरना हमारी राय में न ही देखें तो ही अच्छा है।

फिल्म की रेटिंग
फिल्म को IMDB पे 4.1 रेट मिला है 10 में से और वहीँ हम इस सीरीज को 5 में से 1.5 स्टार देंगे।

फिल्म में क्या सही है
इस फिल्म के मैसेज को सही रूप से देखा जा सकता है की गलत काम का नतीजा गलत ही होता है। हमें कोई चीज़ पाने के लिए बुरे रास्ते को नहीं चुनना चाहिए क्यूंकि हमें भी इसके कारण बुरा अंजाम मिल सकता है।

हिना खान की एक्टिंग को आप सराह सकते हो की उन्होंने कोशिश की है की अपने किरदार के सांथ पूरा जस्टिस करने की।

फिल्म में क्या गलत है
इस फिल्म को हॉरर जॉनर में रखा गया है जबकि हॉरर का एक भी सीन आपको देखने को नहीं मिलेगा।

कमजोर स्टोरीलाइन और करैक्टर बिल्डिंग के कारण अगर कोई भी किरदार किसी भी काम को कर रहा है तो इसके पीछे का कारण आपको पता नहीं चलेगा।

एक्टिंग के नाम पे सभी का काम आपको निराश ही करेगा क्यूंकि बनावटी हंसी और बनावटी डायलॉग आपको बहुत ही ज्यादा परेशान कर देंगे।

डारकवेब का प्रयोग एक जिन की तरह दिखाने का आईडिया सच में बेहद मजाकिया लग रहा है। फिल्म में डार्क वेब के हैकर्स को हैकर के रूप में ना दिखाकर उसे भूत का रंग देने की बचकानी हरकत की गयी है।

‘अनलॉक’ फिल्म का डायरेक्शन, स्क्रीनप्ले और म्यूजिक 
‘अनलॉक’ फिल्म इन तीनो ही मामलों में फ़ैल हो गयी है क्यूंकि फिल्म का डायरेक्शन इतना ज्यादा कमजोर है की फिल्म अपने आप को पूरी तरह से समझाने में असमर्थ रही है। राइटर ने किसी भी किरदार को इतने अच्छे से नहीं लिखा है जिससे दर्शक अपने आप को उस किरदार से जोड़कर देखें। फिल्म का म्यूजिक इतना अच्छा नहीं है की आप अपने आप को कभी भी हॉरर और सस्पेंस की दुविधा में महसूस करें।

फिल्म की स्टार कास्ट
हिना खान,  कुशाल टंडन, अदिति आर्या, ऋषभ सिन्हा

‘अनलॉक’ फिल्म की हिंदी में कहानी  
‘अनलॉक’ फिल्म की कहानी शुरू होती है जब चार दोस्त अमर, रिद्धि, अनुभव और सुहानी मिलते हैं एक पार्टी में जहाँ अमर और रिद्धि के बीच में काफी प्यार है और वे एक दुसरे के काफी क्लोज रहते है और रिलेशन में काफी आगे निकल चुके हैं। लेकिन इन दोनों के रिश्ते से सुहानी काफी नाराज़ है क्यूंकि वह अमर को कॉलेज के समय से जानती है और उससे मन ही मन प्यार भी करती है मगर आज तक कह नहीं पायी और इसलिए वह कोशिश में लगी रहती है की रिद्धि अमर के ज्यादा क्लोज न जाये मगर वह इसमें ज्यादा कामयाब नहीं हो पाती है।

सुहानी रिद्धि को ब्लैकमेल करने के लिए उसके कमरे में कैमरा छुपा देती है मगर रिद्धि गलती से उसके ऊपर अपने कपड़े रख देती है और वह सुहानी की इस चाल से बच जाती है। जिससे सुहानी काफी ज्यादा गुस्सा हो जाती है और अब वह चाहती है वह किसी भी हालत में रिद्धि को अमर से कर दे। सुहानी रिद्धि के मोबाइल को हैक करने की कोशिश में लग जाती है मगर इसी दौरान सुहानी गलती से अपने मोबाइल में डार्क वेब से एक एप्प इनस्टॉल कर लेती है जिसका नाम है “अनलॉक”।

अनलॉक एप्प सुहानी से अपनी विश बोलने के लिए कहता है जिसके जवाब में सुहानी अमर को मांगती है तो अनलॉक एप्प रिद्धि के फ़ोन को हैक करके रिद्धि के कुछ पुराने फोटोज जोकि उसके और उसके पुराने बॉय फ्रेंड के थे वह अमर को भेज देते हैं जिससे अमर नाराज़ हो जाता है रिद्धि से रिश्ता तोड़ लेता है। लेकिन यहाँ अनलॉक एप्प भी इसके बदले में सुहानी से एक गलत काम करवाता है जिसे सुहानी को मजबूरन करना पड़ता है। इसी तरह से अनुभव ने भी अनलॉक एप्प को अपने मोबाइल में इनस्टॉल कर लेता है तो उसे टास्क दिया जाता है रिद्धि के खून करने का जिसे अनुभव को भी मजबूरी में करना पड़ता है लेकिन इसके बाद अनुभव पछतावे के कारण अपने आप को मार देता है। 

अगले सीन में एप्प सुहानी को बोलता है की तुम्हारा रास्ता साफ़ है तुम अब अमर को परपोज़ कर सकती हो और सुहानी ऐसा ही करती है मगर सुहानी जैसे ही अमर को गले लगाती है अमर सुहानी को चाकू से मार देता है इसका कारण यह है की अमर भी अनलॉक एप्प का प्रयोग कर रहा होता है और उसके लिए यह एक टास्क था और इसी के सांथ फिल्म यहाँ खत्म हो जाती है।

अगर इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी सुझाव और शिकायत है तो हमें digitalworldreview@gmail.com पर मेल करें


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *