‘आर्या’ वेब सीरीज का रिव्यू, कहानी में क्या अच्छा है और क्या बुरा, सीरीज की कहानी।

sushmita-sen-aarya-web-series-ka-review-hindi-kahani
Spread the love

‘’आर्या’ वेब सीरीज का हिंदी रिव्यू
आर्या वेब सीरीज एक औरत के साहस, धैर्य और समझदारी की कहानी है जिसे सुष्मिता सेन ने निभाया है। चंद्र चूर्ण ने सुष्मिता सेन के पति का किरदार निभाया है जिसका नाम है तेज़ अब कहानी जैसा की आपको ट्रेलर को देखकर ही पता लग गया होगा की तेज़ के बाद आर्या कैसे अपने बच्चों और बिज़नेस को संभालती है इसके ऊपर है। इस सीरीज को बहुत से लोगो ने काली, ओज़ार्क और पेनोजा से भी तुलना किया है हालांकि अगर आपने इन् सभी सीरीज को देखा है तो तब भी आप इस सीरीज को देख सकते हैं क्यूंकि आर्य में इन सभी सीरीज के मुकाबले थोड़ा ज्यादा वाइड सस्पेंस देखने को मिलेगा। परिवार के बीच की दूरियां, जिम्मेदारियां और दोस्तो की असली पहचान कब और कैसे की जाती है यह आपको इसमें देखने को मिलेगा।

सीरीज को आप hotstar पे देख सकते हैं, इसमें 9 एपिसोड है तथा हर एपिसोड 45-55 मिनट का है लेकिंन यकीन मानिये जब आप इस सीरीज को देखेंगे तो आपको इसे फॉरवर्ड कर कर के देखना पड़ेगा तभी आप इसे देख पूरा पाएंगे और सच कहूं तो आप ऐसा कुछ मेजर मिस भी नहीं करेंगे।  

हमारी राय में अगर आप सुष्मिता सेन के अच्छे फैन हैं तो आप इस सीरीज को जरुर देखें वरना ज्यादा कुछ आप मिस नहीं करेंगे इस सीरीज को ना देखकर।

इस आर्टिकल को आप इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

सीरीज की रेटिंग
सीरीज को IMDB पे 8.2 रेट मिला है 10 में से और वहीँ हम इस सीरीज को 5 में से 3 स्टार देंगे।

सीरीज में क्या सही है
सीरीज में अगर किसी ने जान डाली है तो वह है सुष्मिता सेन, नामित दास, विकास कुमार और सुष्मिता सेन के बच्चे। सुष्मिता सेन ने पूरे सीरीज में अपनी दमदार एक्टिंग से सबका दिल जीत लिया और इनकी एक्टिंग को देखकर ही आप इस सीरीज को पूरा देखने का मन बना सकते हो।

डायरेक्टर ने कहानी को शुरू से सही से जोड़कर दिखाया है और इसलिए आप सब कुछ आसानी से समझ पाते हैं।

अपने दुश्मनो से कब, कैसे और कहाँ बदला लेना चाहिए यह सीरीज में अच्छे से दिखाया गया है और इसी तरह अपने अच्छे दोस्तों की पहचान कैसे करनी है यह भी आप सिख सकते हैं।

सीरीज में क्या गलत है 
सीरीज का जरूरत से ज्यादा स्लो और लम्बा होना। डायरेक्टर को न जाने ऐसा क्यों लगा की लोग इतनी लम्बी सीरीज को देख सकते हैं वह भी सिर्फ यह जानने के  लिए की तेज़ को किसने मारा। एपिसोड्स को छोटा किया जा सकता है क्यूंकि बहुत से दृश्य ऐसे थे जो ना भी होते तो कहानी पे 1% भी असर नहीं पड़ता।

चंद्र चूर्ण को सीरीज में लिया ही क्यों गया जब उन्हें इतना छोटा सा रोल देना था। उनका कोई ऐसा दमदार दृश्य भी नहीं डाला गया जिससे वह सीरीज में अपनी कोई छाप छोड़ देते। यहाँ कहानी के सांथ कुछ तो बदलाव होना चाहिए था जिससे इस सीरीज में चंद्र चूर्ण की भी कोई छाप दर्शको तक बनती।

बहुत से किरदार छोटे रोल होते हुए भी अच्छी एक्टिंग करते हैं जबकि कुछ लम्बे किरदार होने के बावजूद औसत से कम एक्टिंग करते हुए नज़र आएंगे।

राजस्थान में सीरीज की कहानी है मगर वहां की अच्छी लोकेशन का नज़ारा आपको नहीं देखने को मिलता है।

सीरीज के ट्रेलर का रिव्यु पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

डायरेक्शन, म्यूजिक और स्क्रीनप्ले
फिल्म का डायरेक्शन औसत से कम है जिसे फालतू के लम्बी स्टोरी को काट के कम किया जा सकता था और वहीँ बात की जाये स्क्रीनप्ले की तो वह भी कुछ खास नहीं है। म्यूजिक का उपयोग तो कम किया गया है लेकिंन जितना है उससे आप निराश नही होंगे क्यूंकि इसमें पुराने गानो का बहुत ही बढ़िया प्रयोग किया गया है। 

सीरीज की स्टार कास्ट 
सुष्मिता सेन, चंद्र चूर्ण सिंह, सिकंदर खेर, अंकुर भाटिया, नामित दास, मनीष चौधरी, विरति वाघणी, वीरेन वज़ीरानी, प्रत्यक्ष पंवार, सुगंधा गर्ग, प्रियेषा भरद्वाज, विकास कुमार, विश्वजीत प्रधान, विश्वजीत प्रधान, सोहैल कपूर, जयंत कृपलानी, फ़्लोरा सैनी, गार्गी सावंत, अलेक्स

‘आर्या’ वेब सीरीज का प्लाट
आर्या सीरीज की शुरुआत होती है एक परिवार से जिसमे एक पति, पत्नी और उनके तीन बच्चे है जिसमे दो लड़के और एक लड़की है। पिता(तेज़) अपनी वाइफ(आर्या) के खानदानी बिज़नेस को संभालता है जिसे आर्या पसंद नहीं करती है और वह चाहती है की उसका पति यह सब कुछ छोड़ दे लेकिन तेज अपनी पत्नी को दिलासा देता है की बहुत जल्द वह यह सब कुछ छोड़ देगा। यह बिज़नेस है एक फार्मासूटिकल कंपनी का जिसमे दवाई बनाने का काम होता है जिसके सांथ सांथ वह इन दवाई के लिए अफीम की खेती का काम भी करते हैं जोकि इन् दवाई में प्रयोग होती है मगर उनके पास इसका लाइसेंस हैं। उनका काम अच्छा चल रहा है और बढ़ भी रहा है लेकिन तेज़ के पार्टनर्स लालच करने लगते हैं और वह अफीम के सांथ सांथ हीरोइन का भी धंधा करना चाहते हैं लेकिन तेज़ मना कर देता है इसलिए अब तेज़ इस धधे से बाहर निकलना भी चाहता है।

अगले दृश्य में आर्या अपनी बहिन की शादी में होते हैं जहाँ पूरा परिवार उसके सारे दोस्त और पार्टनर्स भी आये हुए होते हैं। यहाँ पार्टनर्स और तेज़ की लड़ाई हो जाती है क्यूंकि तेज़ अब भी मना करता है गलत काम करने से जबकि उसके पार्टनर्स आगे बढ़ने के लिए कोई भी गलत काम करना चाहते है और इसकी शुरुआत उन्होने एक माफिया के माल को चुरा कर कर दी है और अब वह उसको बेचना चाहते हैं लेकिन तेज़ नहीं मानता। इस लड़ाई को होते हुए आर्या के पिता का खास आदमी देख लेता है।

तेज़ एक अच्छा आदमी होता है शायद इसी कारण कुछ दिन बाद तेज़ का खून उसके सबसे छोटे बच्चे के सामने कर दिया जाता है जिससे आर्या का परिवार टूट जाता है। आर्या अपने परिवार को संभालने में लग जाती है और वह जानना चाहती है की तेज़ को किसने मारा है। लेकिंन आर्या की परेशांनी पुलिस भी बढ़ा रही है क्यूंकि उन्हें सबूत चाहिए जोकि एक पेन ड्राइव में हैं जोकि तेज़ पुलिस को देने वाला था मगर उससे पहले ही उसका खून कर दिया जाता है। पुलिस आर्या के सारे अकाउंट को ब्लॉक कर देती है ताकि आर्या मजबूर हो जाये पुलिस की मदद करने के लिए।

आर्या को अब 100 करोड़ रुपये भी देने हैं माफिया को जोकि तेज़ को उनका माल चुराने का दोषी मानते हैं। तेज़ के बिज़नेस के एक पार्टनर जोकि आर्या का भाई है उसे पुलिस पकड़ लेती हैं इसलिए माफिया तीसरे पार्टनर को बहुत मारती है और धमकी देती है पैसे जल्द चुकाने की मगर वह पैसे देने में असमर्थ है। 

कुछ समय बाद आर्या को वह पेन ड्राइव मिल जाती है जिससे सारे राज़ खुल जाते हैं की तेज़ बेकसूर था वह नहीं बल्कि उसके पार्टनर्स गलत काम करते थे और नाम तेज़ का आगे करते थे जिससे पकड़ा वह जाये। आर्या इस धोखे का बदला बड़ी ही चालाकी से लेती है और माफिया को पहले मारकर सबूत पुलिस को दे देती है मगर इसी बीच एक पार्टनर आर्या की बहिन को मार देता है जिसकी अभी नयी नयी शादी हुई थी एक विदेशी से। लेकिन अपनी पत्नी की हत्या का बदला उसका पति उस पार्टनर की हत्या से ले लेता है। 

अंत में आर्या को अपनी माँ से सब पता चलता है की उसके पति का खून दरअसल में उसके पिता ने ही करवाया था अपने ख़ास आदमी (सिकंदर खेर) से। उसके पिता नहीं चाहते थे की उनका काम कभी बंद हो इसलिए वह तेज़ को मरवा देतें हैं क्यूंकि तेज़ सब कुछ बंद करने की सोच रहा था। यह पता चलते ही आर्या इसकी जानकारी पुलिस को देती है और उन्हें पकड़वा देती है। आखिर में दिखाया गया है की वह खुद न्यूज़ीलैण्ड चली जाती है अपने बच्चों के सांथ और यह सीरीज खत्म हो जाती है। 

अगर इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी सुझाव और शिकायत है तो हमें digitalworldreview@gmail.com पर मेल करें


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *