कुछ भी मजा नहीं आया? पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज का हिंदी में रिव्यू, सीरीज में क्या अच्छा है और क्या बुरा, किरदार, सीरीज की कहानी का प्लाट

pati-patni-aur-panga-series-ka-hindi-mein-review-kirdar-kahani
Spread the love

कैसी है पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज?
कभी कभी राइटर और डायरेक्टर दर्शकों से ज्यादा अटैचमेंट पाने के लिए अपनी कहानी के रुख को मोड़ देते हैं और बाद में वह खुद भी कंफ्यूज हो जाते हैं की अब हम किस रस्ते पर अपनी फिल्म या सीरीज की कहानी को आगे लेकर चलना चाहिए। पति पत्नी और पन्गा सीरीज भी आपको कुछ इसी तरह की कई सवालों के सांथ आपको सोचने के लिए मजबूर करती है की आप इस सीरीज को किस मुद्दे के लिए देख रहे हो। हलाकि सामाजिक मुद्दों को उठाना भी राइटर और डायरेक्टर का बेहतरीन कदम होता है मगर एक ही जगह पर आप कई सवालों को दर्शकों के सामने खड़ा कर देंगे तो दर्शक अपने आप से सवाल करने लग जायेगा की यह सीरीज में किस उदेश्य के लिए देखी थी और में क्या देख रहा हूँ।

इस सीरीज में होमो सेक्सुअलिटी के ऊपर सामाजिक नज़रिये को दिखने की कोशिश की गयी हैं लेकिन वहीँ सीरीज इसके सांथ ही कुछ सवालों को भी दर्शकों के सामने रख देती है जैसे क्या परिवार इतना ज्यादा मॉडर्न हो सकता है की माँ अपने बचे के कमरे में कंडोम देख कर खुश हो जाये और अपने बच्चे से खुलकर ही बातें करने लग जाये।

एक सवाल अचानक से सीरीज में आखिर के क्लाइमेक्स में आता है जोकि है वोमेन एम्पावरमेंट का, जोकि ऐसा लगा लेखक ने जबरदस्ती रख दिया है और यह सीरीज में औरतों के सपोर्ट को पाने के लिए किया गया है जोकि कहीं से भी कहानी के सांथ जाता हुआ नहीं लग रहा था क्यूंकि वहां बात किसी और विषय को लेकर चल रही थी लेकिन वोमेन एम्पावरमेंट को जबरदस्ती लाने की कोशिश की गयी है।

हलाकि इस सीरीज को देखकर यह जानना थोड़ा मुश्किल होगा की होमोसेक्सुअल लोगो के बारें में लेखक के विचार बिलकुल सही से परदे पर दिखाए गए हैं या नहीं लेकिन हमारी राय में कुछ दृश्य जरूर ही असल जिंदगी से तालमेल नहीं रखते। उद्दाहरण के लिए सबसे पहला लिफ्ट का दृश्य, क्या एक होमोसेक्सुअल इंसान इतनी जल्दी अपनी इच्छाओं को उजागर कर देता है?

सीरीज का स्क्रीनप्ले बहुत ही ज्यादा तेज़ है और वह भी इतना की आपको यह असल जिंदगी की वास्तविकता से बिलकुल अलग लगेगा की कैसे इतनी जल्दी लड़का और लड़की एक दुसरे के प्रति आकर्षित हो जाते हैं और सेक्स कर लेते हैं। उतनी ही जल्दी उनकी शादी हो जाती है जहाँ लड़की के बारे में कोई भी जानकारी लेने की कोशिश नहीं करते जोकि एक बेहूदा सा मजाक प्रतीत होता है।

सीरीज का डायरेक्शन क्वालिटी की बात की जाये तो वह भी आपको कुछ ज्यादा बेहतरीन नहीं लगेगा क्यूंकि किसी भी किरदार को बहुत से अच्छे उठाने की कोशिश नहीं की गयी है। शायद इसका कारण कहानी का बहुत तेज़ी से आगे बढ़ना हो सकता है। सीरीज में जोक्स, कॉमेडी के नाम पर कुछ भी नहीं दिखाया गया है सिवाय कुछ गिने चुने दृश्यों को छोड़कर।

ठीक इसी प्रकार से सीरीज का म्यूजिक भी आपको एक औसत दर्जे का प्रतीत होता है जहाँ ज्यादा जुड़ाव आप इस सीरीज से नहीं कर पाते हैं संगीत के माध्यम से।

इस आर्टिकल को इंग्लिश पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज हमें देखनी चाहिए?
अगर आप फ्री में कुछ देखने के लिए कुछ ढूंढ रहे हैं तो आप इस सीरीज को भी एक बार जरूर देख सकते हैं। यह सीरीज काफी ज्यादा खिली विचारों की है इसलिए आप इसे अपने परिवार के सांथ तभी देखें अगर आप अपने परिवार के सांथ काफी ज्यादा खुली सोच के सांथ बात करते हैं। 

पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज फ्री में कैसे देखें?
अपने मोबाइल में एम्एक्स(mx) प्लेयर को डाउनलोड करें।

इसमें लॉगिन करके आप वेब शो पर टेप करें या सर्च में इस सीरीज के नाम को सर्च करें।

सीरीज के ऊपर टेप करें और सीरीज का आनद लें फ्री में।

पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज की रेटिंग कितनी है?
पति पत्नी और पन्गा वेब सीरीज को IMDB पे 10 में से 5.6 की रेटिंग मिली है। हम इस सीरीज को 5 में से 2 स्टार देंगे।

डायरेक्टर से कुछ सवाल।
अगर एक लड़की अपने पास्ट को छुपाकर की वह पहले लड़का थी और अब लड़की है शादी करती है। तो क्या लड़के के माँ बाप का यह सवाल पूछना की हमारा परिवार कैसे आगे बढ़ेगा यह पूछना गलत है और इसमें यह बात कहाँ से आती है की किसी लड़की के अस्तित्व का पैमाना इस बात से है की वह परिवार आगे बढ़ा सकती है या नहीं।

वकील ने यह तर्क दिया की लड़की ने अपने अस्तित्व को ही लड़के से छुपाया है तो ऐसे वह अपने वंश को लेकर चिंतित हो सकता है या नहीं यह आप कैसे तय कर सकते हैं, क्या यह अधिकार भी उन्हें नहीं है। उन्होंने कहीं भी यह बात नहीं कही थी की मातृत्व ही शादी का या किसी औरत का शादी के लिए उपयुक्त होना उसका एक मापदंड है।

पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज  में क्या अच्छा है?
सीरीज कुछ विषयों में अपने सवालों से जरूर जनता में जागरूकता फैलाने का काम कर रही है ताकि लोगो का नज़रिया होमो सेक्सुअलिटी के प्रति बदल जाये।

हलके फुल्के कॉमेडी के दृश्य आपके चेहरे पर जरूर ख़ुशी लाते हैं मगर कुछ ही पलों के लिए।

पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज में क्या बुरा है?
सीरीज में कहानी की पकड़ बहुत ही ज्यादा ढीली है जिसके कारन कहानी में किसी भी किरदार को अच्छे से उभारा नहीं है जिसके कारन आप किसी भी किरदार से जुड़ाव महसूस नहीं करते हैं।

सीरीज इतनी ज्यादा तेज़ी से भागती है की किसी मोमेंट को एन्जॉय नहीं कर पाते हैं और यही इस सीरीज की सबसे बड़ी कमजोरी है। 

पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज के किरदार
अदह शर्मा: शिवानी भटनागर, नवीन कस्तुरिआ: रोमांचक अरोरा, हितेन तेजवानी: प्रेम प्रकाश तिवारी, गुरप्रीत सैनी: जीतू, अलका अमिन: रेनू अरोरा

पति पत्नी और पंगा वेब सीरीज की कहानी हिंदी में
सीरीज की कहानी काफी सरल है जहाँ एक छोटा सा परिवार है जिसमे रोमांचक अरोरा अपने माता पिता के सांथ रहता है और वह खुद एक रियल एस्टेट एजेंट है। अपनी दुकान में वह शिवानी भटनागर से मिलता है जिससे वह प्यार करने लगता है और वह उसे अपने ही घर में ही कमरा किराये पर दे देता है। रोमांचक के माता पिता भी लड़की को काफी पसंद करते हैं इसलिए वह उसकी शादी शिवानी से करवा देते हैं।

शादी में दिकत उस दिन सुरु होती है जब रोमांचक का दोस्त उसे बताता है की क्यों तेरी वाइफ का एक भी रिश्तेदार शादी में नहीं आया। इस बात को जानने के लिए वह शिवानी से पूछता है तो वह बताती है की वह पहले लड़का थी और उसने अपना सेक्स चेंज का ऑपरेशन करवाया है और वह अब लड़की है। यह जानने के बाद रोमांचक को काफी दुःख होता है और वह अपने आप को ठगा हुआ महसूस करता है इसलिए वह तलाक के लिए  प्रेम प्रकाश तिवारी से मिलता है और उसका केस अब कोर्ट पहुँच जाता है।

कोर्ट में केस के दौरान दोनों ही अपना पक्ष रखते हैं लेकिन शिवानी अपने पति की ख़ुशी के लिए तलाक दे देती है। लेकिन रोमांचक को धीरे धीरे एहसास होता है की वह शिवानी से काफी प्यार करता है और कहीं न कहीं गलती उसकी थी इसलिए वह वापस से शिवानी से अपना रिश्ता जोड़ लेता है, सीरीज ख़त्म हो जाती है।

अगर इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी सुझाव और शिकायत है तो हमें digitalworldreview@gmail.com पर मेल करें


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *