कमजोर लेखन के चलते नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म घूमकेतु रही फ्लॉप। घूमकेतु फिल्म का रिव्यु, पूरी कास्ट और कहानी।

ghoomketu-film-ka-review-puri-cast-kahani
Spread the love

लॉकडाउन के चलते कई बड़ी फिल्मो को अब डिजिटल प्लेटफार्म पर ही रिलीज़ किया जा रहा है उनमे से एक फिल्म है नवाजुद्दीन सिद्दीकी की घूमकेतु। जिसे 22 मई 2020 को ZEE5 पर रिलीज़ किया गया है। इस फिल्म के निर्देशक पुष्पेंद्र नाथ मिश्रा हैं तथा प्रोडूसर हैं अनुराग कश्यप और बहल। 

जैसा की सब जानते हैं की नवाजुद्दीन सिद्दीकी एक शानदार एक्टर है और वह किसी भी तरह के किरदार को बखूबी निभाते हैं। हालांकि नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने फिल्म को अपने कंधे पर उठाने की कोशिश की है मगर कमजोर लेखन ने उनका सांथ नहीं दिया है। यह एक कॉमेडी ड्रामा फिल्म है जिसमे मुख्य किरदार हैं – नवाजुद्दीन सिद्दीकी, अनुराग कश्यप, इल्ला अरुण, रघुबीर यादव, रागिनी खन्ना तथा कैमियो प्ले कर रहे हैं अमिताभ बच्चन, रणवीर सिंह, सोनाक्षी सिन्हा और चित्रांगना।

इस आर्टिकल को आप इंग्लिश में भी पड़ सकते हैं।

फिल्मं में क्या गलत है 
निर्देशक के पास नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी जैसा कलाकार था लेकिन कहानी में कुछ नयापन नहीं डाला गया। वही रंग बिरंगे कपडे पहनना, बुआ की डकार, सौतेली माँ, गुस्से वाले पिता तथा मोटी पत्नी अजीब ढंग से कहानी को लिखा गया है। फिल्म में तीन गाने हैं जिसमे एक आइटम सांग भी है जो शायद ही आपको कभी याद रहे।

फिल्म 2014-15 में ही बनकर तैयार हो चुकी थे लेकिन रिलीज़ नहीं हो पाई यही कारण होगा की इस फिल्म पर कोई पैसा लगाना नहीं चाहता हो। फिल्म में घूमकेतु द्वारा बोला गया डायलॉग की कॉमेडी लिखना कोई आसान काम नहीं लोगो को हंसी भी आनी चाहिए, लेकिन लेखक ने इस पर खुद एक भी बार अमल नहीं किया होगा।

फिल्म में सही क्या है
घूमकेतु अपने सपनो के सांथ समझौता नहीं करता और यहाँ घूमकेतु की देहाती भाषा आपका दिल जीत लेगी।

फिल्म की कहानी
धूमकेतु उत्तर प्रदेश के गांव मोहना का रहने वाला एक साधारण व्यक्ति है जोकि एक प्रसीद लेखक बनना चाहता है, उसका बचपन से सपना है की वह एक बॉलीवुड फिल्म लिखे जिसे लोग हमेशा याद रखें। अपने सपने को पूरा करने के लिए धूमकेतु मोहना के गुदगुदी अखबार में नौकरी मांगने जाता है और जहाँ वह हेड एडिटर जोशी से मिलता है जो उसे नौकरी तो नहीं देते लेकिन एक किताब देते हैं। जिसके ऊपर फिल्म की स्टोरी लिखने के आईडिया होते है।

फिर एक दिन अचानक घूमकेतु मुंबई भाग जाता है कुछ पैसे लेकर संतो बुआ(इल्ला अरुण) की मदद से मुंबई आकर वह इंस्पेक्टर बदलानी के वहां किराये पर रहता है। वहीँ घूमकेतु के परिवार वाले उसकी लापता होने की शिकायत दर्ज कराते हैं जब पुलिस उससे घूमकेतु की फोटो मांगती है तो वह बोलते हैं की घूमकेतु फैमिली एल्बम लेकर भागा है और अब उनके पास उसकी कोई और फोटो नहीं है।

अब यह शिकायत पहुंच जाती है इंस्पेक्टर बदलानी (अनुराग कश्यप) के पास जोकि एक आलसी व रिश्वतखोर होता है। जोशी द्वारा दी गयी किताब में आईडिया लेकर घूमकेतु इमोशनल, कॉमेडी, हॉरर और रोमांस सब तरह की स्टोरी लिखता है। जिसमे अमिताभ बच्चन, रणवीर सिंह, सोनाक्षी सिन्हा के कैमियो रोल प्ले किए जाते हैं। जब वह स्टोरी लेकर प्रोडूसर के पास जाता है तो वहां उसका मजाक बनाया जाता है और वापस घर जाने के लिए बोल देते हैं।

घूमकेतु हार नहीं मानता वह अपनी लिखी स्टोरी लेकर शाहरुख़ खान के पास जाता है लेकिन शूटिंग में व्यस्त होने के कारण वह उनसे नहीं मिल पाता। वह बाहर आकर खाना खाने जाता है वहीँ उसकी लिखी हुई स्टोरी चोरी हो जाती है। फिर वह शिकायत लिखवाने पुलिस थाने जाता है जहाँ इंस्पेक्टर बदलानी उसे जोकि उसे खुद कई दिनों से तलाश कर रहा होता है उससे आखिर में मिलता है और उसे समझाता है। फिर वह वहां से गांव वापस चला जाता है जहाँ उसे गुदगुदी अख़बार में लेखक की नौकरी मिल जाती है।

एक दिन घूमकेतु की लिखी किताब अमिताभ बच्चन को मिल जाती है, जिनमे लिखे डायलॉग उन्हें पसंद आ जाते हैं और घूमकेतु से सम्पर्क करने की कोशिश करते हैं लेकिन हो नहीं पाता। फिर वहीँ एक दिन घूमकेतु की पत्नी उसे फिल्म चलने के लिए कहती है तब वह देखता है की अमिताभ बच्चन उसके दवारा लिखे गए डायलॉग फेमस हो रहे हैं। यह देखकर खड़ा उठता है और कहता है यह डायलॉग मैंने लिखे हैं और कहानी यहीं खत्म हो जाती है।

अगर इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी सुझाव और शिकायत है तो हमें digitalworldreview@gmail.com पर मेल करें 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *