अच्छे कांसेप्ट को बिगाड़ कर एक बेकार सीरीज बनाना कोई इनसे सीखे, सीरीज भंवर का रिव्यू, सीरीज में क्या अच्छा है और क्या बुरा, किरदार, सीरीज की कहानी का प्लाट

bhanwar-series-ka-review-hindi-mein-kirdar-kahani
Spread the love

कैसी है सीरीज भंवर
कोरोना के चक्कर में चूँकि थिएटर बंद ऐसे में दर्शक और डायरेक्टर्स दोनों ही ओ.टी.टी प्लेटफार्म के जरिये एक दुसरे का सहारा बने हुए हैं जोकि काफी सफल भी हो रहा है। दर्शको को वेब सीरीज में काफी अच्छा कंटेंट मिल रहा है इसलिए कई बड़ी मूवीज भी अब ओ.टी.टी प्लेटफार्म पर रिलीज़ हो रही हैं। लेकिन कई डायरेक्टर्स कोरोना समय को भुनाने के चक्कर में ऐसा कंटेंट भी बना रहे हैं जिसका कोई लॉजिक नहीं हैं। वह सिर्फ जल्दी से अपने आइडियाज को परदे पर उतार कर दर्शको के सामने लेकर आ रहे हैं जिसमे कोई कहानी, एक्टिंग और डायरेक्शन नहीं है।

ऐसी ही बहुत सारे कमियों वाली एक सीरीज हाल में रिलीज़ हुई है जिसका नाम है भंवर। जिसका कांसेप्ट तो काफी अच्छा था मगर इसको परदे पर उतारने में बहुत ज्यादा जल्दी कर दी गयी है जिसके कारण यह सीरीज एक मजाक बन कर रह गयी है क्यूंकि इसमें किरदार न ही अपना अच्छा प्रदर्शन दे पाए और न ही दर्शको के लिए इसमें कोई सस्पेंस या थ्रिल है।

सीरीज की शुरुआत और इसका फर्स्ट हाफ थोड़ा ठीक जाता है अपने यूनिक कांसेप्ट की वजह से मगर उसके बाद इसमें कुछ भी ऐसा खास नहीं है जिससे दर्शक इस सीरीज को पूरा देख पाएं। डायरेक्टर ने अंत में सस्पेंस छोड़ दिया है अगले सीजन के लिए मगर डायरेक्टर ने इस सीजन को अच्छे से बनाने की बिलकुल मेहनत नहीं की तो दर्शक इसका अगला सीजन क्यों देखेंगे।

आप इस आर्टिकल को इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

क्या भंवर सीरीज हमें देखनी चाहिए?
हमारी राय में अपना कीमती समय ऐसी सीरीज को देखने में बर्बाद न करे जिसमे कहानी के नाम पर कुछ न हो और एडल्ट दृश्यों को बगैर मतलब के सीरीज में डाला गया हो।

भंवर सीरीज की रेटिंग
इस सीरीज को IMDB पे 3.2 रेट मिला है 10 में से और वहीँ हम इस सीरीज को 5 में से 1.5 स्टार देंगे।

भंवर सीरीज में क्या अच्छा है?
सीरीज का सिर्फ कांसेप्ट ही अच्छा है जिसे लेकर डायरेक्टर चाहते तो एक बहुत ही अच्छी सीरीज बना सकते थे अच्छे कलाकार और कहानी लिखकर लेकिन बदकिस्मती से ऐसा कुछ भी नहीं है।

भंवर सीरीज में क्या गलत है?
इस सीरीज में सब कुछ गलत है चाहे बात की जाये कलाकारों का काम, सीरीज की कहानी, सीरीज का डायरेक्शन इसलिए इस सीरीज को सबसे ख़राब सीरीज में गिना जा सकता है।

भंवर सीरीज का डायरेक्शन, स्क्रीनप्ले और म्यूजिक 
डायरेक्शन, स्क्रीनप्ले और म्यूजिक के नाम पर कुछ भी नहीं है, डायरेक्टर ने ज्यादातर सीरीज सिर्फ एक ही घर में शूट किया है लेकिन वह भी मजाक ही लगता है। डायरेक्टर यह सीरीज शूट करने से पहले कैथी फिल्म देख लेनी चाहिए थी कैसी एक जगह होने के बावजूद उसका अच्छे से इस्तेमाल किया जाता है।

स्क्रीनप्ले और म्यूजिक की बात की जाये म्यूजिक को आप तब भी महसूस कर सकते हैं लेकिन स्क्रीनप्ले बहुत ही ज्यादा बकवास है। कलाकारों के पास न तो अच्छे डायलॉग हैं और न ही कहानी को अच्छे से जोड़कर दिखाया गया की क्यों यह सब चीज़े हो रही हैं। लेखक ने बस दर्शकों को सोचने के लिए मजबूर कर दिया है की क्या हुआ होगा, क्यों हुआ होगा।

भंवर सीरीज की कहानी का प्लाट
सीरीज की कहानी शुरू होती है जब रणवीर मखीजा (करणवीर बोहरा) नए फ्लैट में आता है बहुत सारे पैसे लेकर अपने पत्नी कनिका (प्रिया बनर्जी) के सांथ। इस घर में पार्टी की जाती है जिसमे यह दोनों, हाउस ब्रोकर सैम, सैम का दोस्त रॉड्रिक्स (मंत्रा) और रॉड्रिक्स का एक दोस्त आते हैं। एक दिन दोनों को एक विंड मिल दिखती है जिसके पास जाते ही दोनों उसमे समां जाते हैं और कुछ देर बाद उसमे से बाहर आते हैं। कुछ देर में उन्हें पता लगता है की दोनों टाइम ट्रेवल करके 6 महीने आगे आ गए हैं लेकिन इस वक़्त में दोनों का खून हो चूका है। अब दोनों की आत्मा आती है जोकि उन्हें बताती है की उनका खून हो चूका है और उन्हें अपने आप को बचाना है।

दोनों वापस जाकर अपने सभी दोस्तों को बुलाते हैं जहाँ सीरीज का क्लाइमेक्स खुलता है की रॉड्रिक्स एक पुलिस वाला है और कनिका उसकी खबरी है। सभी एक दुसरे पर बन्दूक तान देते हैं और गोली चला देते हैं जिसमे हाउस ब्रोकर सैम और रॉड्रिक्स की एक दोस्त मारी जाती है। अब केवल तीन लोग बचे हैं रणवीर, कनिका और रॉड्रिक्स और आखिर में दो गोली की आवाज़ आती है जिसके सांथ यह सीरीज ख़त्म हो जाती है। यहाँ कौन बचा, कैसे बचा यह छुपाने की क्या जरूरत थी यह समझ में नहीं आया। वैसे ही सीरीज में कुछ भी नहीं है दिखने के नाम पर तो यह सस्पेंस अगले सीजन में लेकर जाने का आईडिया बेकार है।

भंवर फिल्म के किरदार
प्रिया बनर्जी, करणवीर बोहरा, तीजे सिद्धू, मंत्रा 

अगर इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी सुझाव और शिकायत है तो हमें digitalworldreview@gmail.com पर मेल करें


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *