आपने ऐसी फिल्म बॉलीवुड में नहीं देखी होगी। एजेंट साई फिल्म का रिव्यू, फिल्म में क्या अच्छा है और क्या बुरा, किरदार, फिल्म की कहानी का प्लाट

Agent-Sai-Srinivasa-Athreya-film-ka-review-hindi-mein-kahani-kirdar
Spread the love

कैसी है एजेंट साई श्रीनिवासा अतरेया फिल्म?
हमें सच में याद नहीं की ऐसी जुर्म की तफ्तीश करने वाली इतनी बेहतरीन फिल्म बॉलीवुड में हमने कब देखी थी या अभी तलक देखी भी है या नहीं। फिल्म अदाकारी, कॉमेडी, कहानी, स्क्रीनप्ले, सस्पेंस हर पहलुओं पर बिलकुल खरी उतरती है और बिलकुल सटीक तरीके से आपके सामने हर एक चीज़ को प्रस्तुत करती है।

तारीफ करनी होगी डायरेक्टर स्वरुप आर.एस.जे की जिन्होंने इस फिल्म को न केवल डायरेक्ट किया है बल्कि इस फिल्म की कहानी और स्क्रीनप्ले पर भी इन्होने ही काम किया है। कहना तो नहीं चाहिए मगर बॉलीवुड को साउथ इंडस्ट्री से जरूर सीखना चाहिए की आप अपनी कहानी को अच्छे से लिखकर दर्शकों के सामने रखेंगे तो दर्शक भी जरूर इसे पसंद करेंगे।

फिल्म में एक विषय के ऊपर बात की है जिसका ज्यादातर लोग ध्यान नहीं देते हैं और इसी बात का फायदा उठाकर कई लोग इसका फायदा उठाते हैं। इस फिल्म की कहानी भी इन्ही कुछ विषयों को सामने लाती है लेकिन बिलकुल सटीक और अच्छे तरीके से जिससे लोगो को अपनी असावधानी का पता चल सके।

आप अपनी बातें या समाज के बारे में कोई भी सन्देश विवादित तरीके से न दिखाकर उसे इस तरीके से प्रस्तुत करें की लोगो को भी उससे समझ आये की हाँ कई बुरे लोग हमारा किस तरह से फायदा उठा रहे हैं। लेकिन बॉलीवुड काफी लम्बे समय से फिल्मो की कहानी पर ध्यान देने की बजाय उसमे विवादित दृश्यों के ऊपर ज्यादा ध्यान दे रहा है इसलिए आज काफी दर्शक साउथ इंडस्ट्री की तरफ बढ़ चुके हैं और उनकी ज्यादातर हर फिल्म का इंतज़ार करते हैं। 

इस आर्टिकल को इंग्लिश पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

फिल्म एक रेस में दौड़ने वाले घोड़े की तरह चलती है जहाँ फिल्म एक रेसर की तरह शुरू में धीरे धीरे अपना ग्राउंड बनाती है और फिर अपनी पकड़ बनाते हुए जबरदस्त तरीके से आगे बढ़ती है। हमने जब फिल्म को देखना चालु की तो शुरू में हमें भी उम्मीद नहीं थी फिल्म इतनी ज्यादा दिलचसप हो जाएगी की आप इसका एक भी दृश्य छोड़ना पसंद करोगे।

फिल्म का हीरो एजेंट साई एक होनहार और तेज़तर्रार जासूस है जोकि शर्लाक होल्म्स का बहुत बड़ा फैन है। उसे एक मौका चाहिए अपने आप को लोगो के सामने अपनी काबलियत दिखाने का वह कितना काबिल जासूस है। कैसे एजेंट साई लोगो के सांथ किये जा रहे धोखे को पकड़ता है, फिल्म की कहानी को इसी के इर्द गिर्द लिखा गया है। 


क्या एजेंट साई श्रीनिवासा अतरेया फिल्म देखनी चाहिए?
हाँ, इस फिल्म को आप अपने परिवार के सांथ जरूर देखें। फिल्म हिंदी ऑडियो के सांथ यूट्यूब पर मौजूद है जिसे आप फ्री में देख सकते हैं।


एजेंट साई श्रीनिवासा अतरेया फिल्म की रेटिंग कितनी है?
एजेंट साई श्रीनिवासा अतरेया फिल्म को IMDB पे 10 में से 8.4 की रेटिंग मिली है। गूगल पर इसे 98% लोगो ने पसंद किया है और हम इस फिल्म को 5 में से 4 स्टार देंगे।

agent-sai-ki-IMDB-rating


परफॉरमेंस  
नवीन पॉलीशेट्टी का भोलापन और उसका एक जासूस बनने का जूनून देखकर आपको इस किरदार से सच में प्यार हो जायेगा। नवीन ने अपने किरदार को सच में जीवित कर दिया है, किरदार को जैसे नवीन ने अपने आप में बसा लिया है और आप उन्हें एक जासूस के रूप में ही देखते हैं।

श्रुति शर्मा और सुहास ने भी तारीफ के अनुसार काम किया है जोकि अपने किरदार के अनुसार अपने आप को ढालने में पूरी तरह से कामयाब हुए हैं।

फिल्म में क्या अच्छा है?
एजेंट साई फिल्म का स्क्रीनप्ले
इस फिल्म की असली ताकत है जिसमे आपको क्राइम और सस्पेंस का ऐसा डोज़ मिलता है की आप अपने आप एक पल के लिए भी इस फिल्म से दूर नहीं कर पाओगे। फिल्म अछि गति से आगे बढ़ती है जिससे आपको ज्यादा बोर होने का मौका नहीं मिलता।

फिल्म के मुख्य किरदारों को पूरा समय दिया गया है की आप उससे जुड़ सकें जिससे आप कहानी अच्छे से एन्जॉय करते हैं।

एजेंट साई फिल्म का डायरेक्शन भी काफी बेहतरीन है जहाँ कम ही मौके ऐसे आते हैं जब आपको कहानी या किरदार फिल्म से अलग जाते हुए लगेंगे।

एजेंट साई फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक काफी अच्छा है जोकि आपको हमेशा फिल्म में सस्पेंस की भावना में बांधें रखता है।

फिल्म का क्लाइमेक्स और विषय इतना बेहतरीन है जिसके बारे मैं आप कल्पना भी नहीं कर सकते। डायरेक्टर ने पूरी कोशिश की है पूरी फिल्म में दर्शकों को कुछ न कुछ सस्पेंस दिया जाए जिसमे वह कामयाब भी हुए हैं।


फिल्म में क्या गलत है?
एजेंट साई फिल्म कमी की बात की जाये तो आपको फिल्म की क्वालिटी काफी बेहतरीन नहीं लगेगी सायद डायरेक्टर इसको डार्क थीम पर रखना चाहते थे सायद इसलिए ऐसा हो सकता है।

फिल्म में कोई बड़ी फाइट या गोलीबारी का दृश्य नहीं दिखा, अगर यह होता तो फिल्म और भी ज्यादा बेहतरीन लगती।


फिल्म के किरदार
नवीन पॉलीशेट्टी: एजेंट साई श्रीनिवासा, श्रुति शर्मा: सनेहा, श्रद्धा राजगोपालन: वसुधा, दरभा अप्पाजी अम्बरीशा: वसुधा फादर, सुहास: एजेंट बाला वेंकटा, रामदत्त: सब इंस्पेक्टर वामसी, कृष्णेश्वरा राव: गोपालम, विस्वनाथ, चाणक्य तेजस: सिरीश


एजेंट साई फिल्म की कहानी क्या है?
फिल्म की कहानी एक जासूस की है जोकि एक बड़े केस की तलाश में है जिससे वह प्रसीद हो जाये इसलिए अभी वह छोटे जुल्म को सुलझा रहा है। एजेंट साई को उसका एक पत्रकार दोस्त पटरियों पर मिल रही लाशों के बारे में बताता है जिसको सुलझाने के लिए साई वहां जाता है मगर पुलिस उसे पकड़ लेती है और जेल में डाल देती है। 

सबूतों की तलाश में साई दो लोगो के पीछे पद जाता है लेकिन इसी बीच इन दोनों का ही खून हो जाता है जिसके शक में फिर से साई को गिरफ्तार कर लिया जाता है। लेकिन साई खून के वक़्त कहीं और मौजूद था इसलिए उसे जमानत मिल जाती है और वह लाशों की मदद से उस व्यक्ति तक पहुँच जाता है जोकि रेल की मदद से पटरियों पर लाश को फ़ेंक देता है।

अंत में साई को समझ में आ जाता है की यह लोग लोगो की लाशों गंगा नदी में बहाने के नाम पर लोगो से पैसा लेकर लाशों को रास्ते में ही कहीं फ़ेंक देते हैं और उनके उँगलियों के निशान मुजरिमो को बेच देते हैं। साई इस साजिश के पीछे मुजरिमो को पकड़वा देता है हलाकि साई इसके बाद भी प्रसीद नहीं हुआ है।

अगर इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई भी सुझाव और शिकायत है तो हमें digitalworldreview@gmail.com पर मेल करें!


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *